भाई-बहन के असीम प्यार के प्रतीक पर्व रक्षाबंधन में अब कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। बाजार, रंग-बिरंगी आकर्षक राखियों से सज चुका है। भाई-बहन के स्नेह को समर्पित इस त्योहार का बहनें बड़ी बेसब्री से इंतजार करती है और हमेशा कोशिश करती है कि किसी भी हालत में भाई की कलाई सूनी नहीं रहे। इसके लिए कभी वह लंबा फासला तय करती हैं, तो कभी अपने प्यार और आशीर्वाद को लिफाफे में बंद कर डाक के द्वारा अपने भाई के पास पहुंचाती हैं। बहनों ने राखी खरीद कर दूर-दराज रह रहे अपने भाइयों को भेजना भी शुरू कर दिया। ऐसे में भारतीय डाक विभाग ने बहनों को इस बार फिर बड़ी सौगात दी है।

राखी के लिए स्पेशल प्लास्टिक लेमिनेटेड लिफाफा

दरअसल अब मात्र 15 रुपये में कोई भी बहन देश के किसी भी कोने में राखी भेज सकती है। इसके लिए डाक विभाग द्वारा राखी भेजने के लिए रक्षाबंधन स्पेशल प्लास्टिक लेमिनेटेड लिफाफा की बिक्री शुरू की गई है। अब रास्ते में राखियां खराब नहीं होंगी। ये लिफाफा सभी डाकघरों में मात्र दस रुपया में रक्षाबंधन स्पेशल लिफाफा के रूप में उपलब्ध है। उस विशेष लिफाफा पर पांच रुपए का साधारण डाक टिकट लगाकर 20 ग्राम तक की राखी कहीं भी भेजी जा सकती है।

राखी खराब होने की आती थी शिकायत

दरअसल अक्सर रक्षा बंधन पर दूर-दराज में रहने वाले भाईयों को बहनों द्वारा डाक से राखी भेजी जाती है। इस दौरान जानकारी मिलती थी कि कई बार काफी महंगी राखी साधारण लिफाफा होने के कारण रास्ते में ही खराब हो जाती है, इसको लेकर काफी शिकायतें विभाग के पास आ रही थी। जिसके बाद ही डाक विभाग ने विशेष प्रकार के लिफाफों का प्रयोग करने का फैसला लिया और विभाग की ओर से पहली बार प्लास्टिक कोटेड स्पेशल प्रिंटेड लिफाफों का प्रचलन शुरू किया गया है।

डाक विभाग ने बताया है कि दिल्ली के 34 प्रमुख डाकघरों में राखी भेजने के लिए विशेष काउंटर खोले जा रहे हैं। इसके अलावा देश के सभी राज्यों के पोस्ट ऑफिस में ये व्यवस्था की गई है।

डाकघर की बढ़ी जिम्मेदारी

बिहार के बेगूसराय प्रधान डाकघर के डाकपाल सुबोध कुमार सिंह एवं रामरंजन सिंह ने बताया कि पिछले वर्ष से कोरोना महामारी ने सभी प्राचीन, पारंपरिक और ऐतिहासिक परंपराओं को तोड़कर रख दिया है। ऐसे मुश्किल हालात में बहन की राखी भाई तक पहुंचाने वाले डाकघर की जिम्मेदारी काफी बढ़ गई है। समय की नजाकत को समझते हुए डाक विभाग ने रक्षाबंधन की सौगात देते हुए स्पेशल तैयारी की है। उन्होंने बताया कि प्लास्टिक कोटेड इस लिफाफे के ऊपर ”राखी एनवलप” लिखा गया है। कहीं भी इसे चेक नहीं किया जाएगा तथा समय पर तयशुदा जगह पर पहुंचाया जाएगा। राखी को समय पर पहुंचाने के लिए केन्द्र सरकार ने यह व्यवस्था की है। यदि बुकिंग ज्यादा होती है, तो स्पेशल बैग बनाकर भेजने की भी व्यवस्था की गई है।