सीटू ने प्रधानमंत्री के नाम सौपा ज्ञापन

सारणी । जितेन्द्र निरापुरे
ये दिया ज्ञापन

ज्ञापन पत्र एटक – सीटू दिनांक 09-08-2021 प्रति माननीय प्रधानमंत्री महोदय जी , भारत सरकार , नई दिल्ली द्वारा : श्रीमान महाप्रबंधक वे.को.लि.पाथाखेड़ा क्षेत्र । विषय : – देश की वर्तमान सरकार की उद्योग विरोधी किसान एवं मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध बावत । महोदय , देश को आजाद हुए 74 साल बीत गए है । अगले साल हम आजादी की 75 वीं जयंती मनाने जा रहे है । आज से 79 साल पूर्व 9 अगस्त 1942 को इसी दिन करो या मरो के संकल्प के साथ अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा दिया गया था । उसके पाँच साल के भीतर अंग्रेजी साम्राज्यवादी हुकूमत को भारत छोड़ना पड़ा । इस आजादी के लिए हजारों – लाखों देशवासियों ने अपना सब कुछ कुर्बान किया । हमारे पुरखों ने यह कुर्बानी क्यों दी थी ? उनका सपना था कि एक नये भारत का निर्माण होगा . जिसमें हम खुद अपने मालिक होंगे । हमारे खुद के उद्योग – धंधे होंगे , खुद के वित्तीय संसाधन होंगे , खुद का शासन होगा और अगली पीड़ियों के लिए एक खुशहाल जीवन होगा । पर आज हमारे सामने एक नई गुलामी की चुनौती खड़ी है । केंद्र की मोदी सरकार देश के सभी संसाधनों , उद्योगों , कल – कारखानों , खदानों , बैंकों , बीमा कंपनियों , रेल , सेना के लिए हथियार बनाने वाले उद्यमों यहा तक कि खेती – किसानी और तमाम प्राकृतिक संसाधनों तक को चंद देशी विदेशी मुनाफाखोर कॉर्पोरेटों के हवाले कर रही है । हमारे पुरखों के बलिदानों से प्राप्त आजादी को फिर से इन मुनाफाखोरों के हवाले करने के लिए तमाम नीति व तमाम कानून बेशर्मी से जनतंत्र का गला घोंटकर लागू किए जा रहे है । क्षम संघ केंद्र सरकार को निम्नलिखित मांगे कार्यवाही हेतु प्रेषित करता है : मागे 1. पाथाखेड़ा क्षेत्र में शीघ नई खदाने खोली जाये । 2. सार्वजनिक उद्योगों के निजीकरण पर रोक लगाई जाये । 3. मजदूर विरोधी काली श्रम संहिताएं किसान विरोधी तीन कृषि कानून और बिजली संशोधन अध्यादेश को रद्द करो । 4. स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के अनुसार सभी फसलों के लिए सी -2 ( फसल की वास्तविक लागत अर्थात बीज , खाद , सिंचाई , बिजली , श्रम और कृषि जमीन का किराया ) + 50 प्रतिशत मुनाफा जोड़ उसके आधार पर न्यूनतम समर्थन मूल्य ( एमएसपी ) तय कर उसके खरीद की गारंटी सुनिश्चित करो । 5. पेट्रोल , डीजल , रसोई गैस समेत आम उपयोग की वस्तुओं की मूल्यवृद्धि रोको और बढ़ाई गई कीमतों को वापस करो । कोरोना महामारी व लाकडाउन के कारण हुई नौकरी से छटनी और वेतन कटीती को वापस लो । 6. सभी प्रवासी और असंगठित क्षेत्र के मजदूरों का पंजीकरण करो । नए रोजगार पैदा करो , छंटनी , वेतन कटौती पर प्रतिबंध लगाओ।सरकारीऔर सार्वजनिक क्षेत्र में रिक्त पदों को तुरंत भरो । 7. कैजुअल , ठेका , असंगठित मजदूरों तथा योजना कर्मियों सहित सभी श्रेणी के मजदूरों को न्यूनतम वेतन , सामाजिक सुरक्षा तथा पेंशन की गारंटी दो । 8. मनरेगा पर बजट आवंटन में वृद्धि कर 600 रुपये प्रतिदिन की मजदूरी के साथ कम से कम 200 दिन काम सुनिश्चित करो । शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू करो । मनरेगा में काम एवं भुगतान पर जाति आधारित भेदभावपूर्ण REDMI NOTE 5 PRO स MI DUAL CAMERA के बैंक खातों में प्रति माह 7500 रुपये भेजना सुनिश्चित करो ।
10. महामारी के संकट केपूर्ण समाधान होने तक प्रत्येक परिवार को प्रतिमाह प्रति व्यक्ति 10 किलो निःशुल्कअनाज उपलब्ध करो । 11. देश के सभी नागरिकोंको तत्काल सार्वभौमिक निःशुल्क वैक्सीन लगाओ।फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को प्राथमिकता दो । इसके लिए वैक्सीन उत्पादन में तेजी लाकर एक तयशुदा समय सीमा के भीतर सार्वभौमिक निःशुल्क वैक्सीन सुनिश्चित करने की नीति बनाओ और वितरण को सरकारी व्यवस्था के तहत लाओ।वर्तमान कारपोरेट समर्थक वैक्सीन नीति को रद्द करें । कोरोना में मारे गए नागरिकों के परिवार को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार मुआवजा दो । 12. सकल घरेलू उत्पाद ( जीडीपी ) का 6 प्रतिशत स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए आवंटित कर सभी स्तरों पर सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को और मजबूत करो । बढ़ती कोविड महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक स्वास्थ्य कर्मियों की भर्ती सहित स्वास्थ्य ढाँचा , अस्पताल व उनमें पर्याप्त बिस्तर , ऑक्सीजन और अन्य चिकित्सा सुविधाएं सुनिश्चित करो । यह सुनिश्चित करो कि गैर – कोविड रोगियों को भी सरकारी अस्पतालों में प्रभावी उपचार मिले । सभी स्वास्थ्य और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं और आशा और आंगनवाड़ी कर्मियों सहित महामारी – प्रबंधन कार्य में लगे सभी के लिए बीमा कवरेज के साथ सुरक्षात्मक गियर , उपकरण आदि की उपलब्धता सुनिश्चित करो । 13. सार्वजनिक उपक्रमों और सरकारी विभागों के निजीकरण और विनिवेश को रोकें । क्रूर आवश्यक प्रतिरक्षा सेवा अध्यादेश को वापस लो । धन्यवाद ।भवदीय अध्यक्ष / महामंत्री अध्यक्ष / महामंत्री एटक और सीटू इस अवसर पर वे.को.लि ,कल्याण बोर्ड सदस्य कामेश्वर राय , एटक यूनियन से एल, झरबड़े ,श्रीकांत चौधरी अध्यक्ष/ महामंत्री और सीटू से अशोक बुंदेला ,अध्यक्ष जगदीश डिगरसे महामंत्री पाथाखेड़ा क्षेत्र , सहित सेकडो कार्यकर्ताओं ने मिलकर ज्ञपन दिया