*वैक्सीनेशन महा अभियान पर बारिश का असर*

*ग्रामीण क्षेत्रों में कम होने लगी उपस्थिति*

*3700 के लक्ष्य के विरुद्ध केवल 1987 लोग पहुंचे वैक्सीनेशन केंद्रों पर*

*जितेन्द्र निगम – चिचोली*

*क्षेत्र में हो रही लगातार बारिश और ग्रामीण किसानों के खेती किसानी में व्यस्त होने के कारण स्वास्थ्य विभाग को वैक्सीनेशन अभियान में अपेक्षित सफलता नहीं मिल रही है . तमाम प्रयासों के बावजूद भी ग्रामीण वैक्सीनेशन सेंटरों पर नहीं पहुंच पा रहे हैं.*

*सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत 14 केंद्रों पर 1987 लोगों ने ही वैक्सीनेशन कराया जबकि इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने 3700 वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया था*.

*वैक्सीनेशन प्रभारी अनिल कटारे ने बताया कि सोमवार को गोधना के वैक्सीनेशन केंद्र पर सर्वाधिक 461 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ . इसके अलावा दूधिया में 198 और पाटाखेड़ा में 180 लोगों ने वैक्सीनेशन कराया. ग्रामीण क्षेत्र के अन्य केंद्रों पर वैक्सीनेशन कराने वालों की संख्या कम रही. इसके कारण वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा नहीं हो सका.*

*मैदानी अमले के प्रयास से गोधना मे मिली अच्छी सफलता*

*स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले के प्रयास से वर्षा के बावजूद भी गोधना ग्राम में 461 लोगों ने वैक्सीनेशन कराया. यहां 500 लोगों का वैक्सीनेशन लक्ष्य निर्धारित किया गया था . इस केंद्र पर एएनएम आकांक्षा वामनकर की प्रेरणा से नेत्रहीन छन्नू कुमरे ने भी वैक्सीनेशन का प्रथम डोज लिया. इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की श्वेता डोंगरे, कलावती इवने, फुलवंती वाडीवा, ममता इवने और फूलसिंह उईके ने भी लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करके अधिकतम वैक्सीनेशन के प्रयास किए.*

*चिचोली तहसील मुख्यालय पर केवल 88 लोग पहुंचे*

*क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश का असर तहसील मुख्यालय के वैक्सीनेशन केंद्र पर भी रहा. यहां पर 500 लोगों के लक्ष्य के विरुद्ध केवल 88 लोग ही वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे. जबकि इसके पूर्व इस केंद्र पर वैक्सीनेशन के लिए लोगो की लंबी कतारें लग रही थी. सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी दिन भर लोगों के आने का इंतजार करते रहे. ब्लॉक के मलाजपुर ( कटकुही) मे सबसे कम वैक्सीनेशन हुआ.यहां 200 के लक्ष्य के विरुद्ध केवल 44 लोगों ने ही वैक्सीनेशन कराया.*