वर्ष भर चलने वाले अन्न क्षेत्र में नर्मदा मैया को लगाया 56 भोग
सुमित गुप्ता
पीपरी – बागली विकासखंड के अंतिम छोर पर नर्मदा दर्शन होते हैं यही समीप में 15 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत पीपरी मुख्यालय पर स्थानीय निवासी और बोल बम कावड़ यात्रा के संस्थापक सदस्यों द्वारा कुछ सामाजिक लोगों से मिलकर एक ट्रस्ट का गठन किया है यह ट्रस्ट नर्मदा

परिक्रमा के दौरान आने वाले सभी श्रद्धालुओं को ठहरने की एवं भोजन की व्यवस्था पिपरी स्थित नर्मदा मंदिर में करता है साथ में विभिन्न धार्मिक पर्वों पर यहां पर सांस्कृतिक साहित्यिक गतिविधि के साथ भोजन प्रसादी गतिविधि भी संचालित होती है। दीपावली पर्व के 1 दिन बाद से सभी मंदिरों में छप्पन भोग प्रसादी की परंपरा है जिसे अन्नकूट महोत्सव भी कहते हैं इसी श्रंखला में मनकामेश्वरी नर्मदा माता मंदिर परिसर में रविवार को दशमी तिथि पर छप्पन भोग प्रसादी का आयोजन संपन्न हुआ
इस दौरान समिति सदस्यों द्वारा पुजारी के सहयोग से माँ नर्मद को नवीन पोशाक पहनाई गई श्रृंगार किया गया और प्रसादी के रूप में 56 तरह के पकवानों का भोग लगाया और मां नर्मदा से क्षेत्र में शांति सद्भाव तथा निरोगी माहौल की कामना की धार्मिक गतिविधि के बाद माता रानी की ज्योतिर्मयी कपूर आरती करके उपस्थित श्रद्धालुओं को आरती दर्शन करवाएं । इसके बाद भोजन प्रसादी भण्डारे का आयोजन संबंधित सिमिति द्वारा किया गया, भोजन प्रसादी का लाभ सेकड़ो भक्तों ने लिया विशेष अवसर पर आज की नर्मदा मैया पोशाक एवं 56 भोग व्यवस्था श्रद्धालु कृष्णा देवी गुप्ता इंदौर की ओर से संपन्न हुई। धार्मिक संस्कृति कार्यक्रम में क्षेत्रीय विधायक पहाड़सिंह कन्नोजे भी अपने आप को नहीं रोक पाए और इस अनूठे कार्यक्रम में वह भी शामिल हुए , समिति के वरिष्ठ सदस्य गिरधर गुप्ता,सतीश मेहता,अजय गुप्ता,अजय शर्मा,मांगीलाल भाई,पण्डित दीपक शास्त्री,जुगल वैष्णव,ब्रजेश शर्मा, मुकेश प्रजापत, प्रदीप मेहता,सतीश अग्रवाल,देवराज गोले,शुभम सेंधव, द्वारा गरिमामय आयोजन की व्यवस्था को संभालने में पूरा सहयोग दिया