*वर्तमान दौर में पत्रकारिता चुनौतीपूर्ण कार्य : प्रवीण अग्रवाल ने चुनौती को स्वीकार किया और बाधाओं को पार किया : विशाल बत्रा*

 

*वर्तमान दौर में पत्रकारिता बड़ा ही दुष्कर और चुनौतीपूर्ण कार्य है। समाज के प्रति सबसे अधिक जिम्मेदारी निभाने की अपेक्षा पत्रकार से ही की जाती है।

जो खुद समाज के नियम कानून तोड़ते हैं वे लोग भी पत्रकार से अपेक्षा रखते हैं कि वह समाज की चौकसी करे, वह भी बिना वेतन भत्ते के । अतः इस कठिन दौर में पत्रकारिता के किसी नए बैनर की शुरुआत करना और उसे लगातार चलायमान रखना बेहद चुनौतीपूर्ण कार्य है।

आज का खुलासा न्यूज़ पोर्टल के संपादक प्रवीण अग्रवाल ने पिछले 1 वर्षों में इस चुनौती को बखूबी स्वीकार किया और सारी बाधाओं को पार भी किया।

दैनिक जागरण, नवभारत दैनिक भास्कर और नईदुनिया के शुरुआती दौर से प्रिंट मीडिया में सक्रिय प्रवीण अग्रवाल के अंदर पत्रकारिता आज भी जिंदा है ।यह उन्होंने आज का खुलासा न्यूज़ पोर्टल से साबित किया है।

आज का खुलासा न्यूज़ पोर्टल ने पिछले 1 वर्ष के दौरान शासकीय सूचनाओं, सामाजिक खबरों और समस्याओं को प्रमुखता से अपने मंच पर स्थान दिया है। बीता एक वर्ष आज का खुलासा न्यूज पोर्टल का शैशव काल है।

पत्रकारिता की उम्र लंबी होती है, आवश्यकता होती है हौसला बनाए रखने की । और प्रवीण अग्रवाल में यह हौसला है। सो यह निश्चित है कि उनका न्यूज़ पोर्टल भी लंबा सफर तय करेगा। वे अपने अनुभव से निरंतर वर्षों वर्षों तक आज का खुलासा को चलायमान रखें यही मेरी शुभकामनाएं हैं।*

*लेखक मप्र श्रमजीवी पत्रकार संघ के संभागीय उपाध्यक्ष, भाजपा के जिला उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय जनादेश के विशेष संवाददाता और ख़बरमंत्री.com न्यूज पोर्टल के सलाहकार संपादक हैं।*