हर गांव शिक्षित बने एवं विकास की मुख्य धारा से जुड़े- राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल
——————————————–
राज्यपाल ने आदर्श सोलर ग्राम बाचा में विकास कार्यों का अवलोकन
——————————————–
आदिवासी श्री अनिल उइके के निवास पर किया भोजन
——————————————–
रुद्राक्ष का पौधा रोपा
—————–
हितग्राहियों को हितलाभों का वितरण
—————————-
प्रदेश के राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल ने मंगलवार को बैतूल जिले के आदर्श सोलर ग्राम बाचा का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने यहां किए गए विकास कार्यों का अवलोकन किया। राज्यपाल श्री पटेल ने यहां आदिवासी श्री अनिल उइके के निवास पर भोजन किया। इसके पूर्व उन्होंने ग्राम के स्कूल परिसर में रुद्राक्ष का पौधा रोपा।

कार्यक्रम में श्री पटेल ने यहां विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हितलाभ के स्वीकृति पत्र भी वितरित किए। इस दौरान सांसद श्री डीडी उइके, विधायक आमला डॉ. योगेश पंडाग्रे, प्रधान जिला पंचायत श्री सूरजलाल जावलकर, उपप्रधान श्री नरेश फाटे, भारत भारती आवासीय विद्यालय के सचिव श्री मोहन नागर सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

अपने संबोधन में राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि वे प्रकृति की गोद में बसे इस गांव में आकर काफी प्रसन्नता महसूस कर रहे हैं। यहां के ग्रामीणों के लगाव से वे अभिभूत हैं। उन्होंने कहा कि देश की आत्मा गांवों में बसती है। गांवों के विकास से ही देश का विकास होगा। सरकार विभिन्न योजनाएं एवं कार्यक्रम संचालित कर ग्रामीण विकास के लिए सतत प्रयासरत है। ग्राम बाचा में सोलर सिस्टम, वाटर हार्वेस्टिंग, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना से लाभान्वित ग्रामीणों की तरक्की देखकर उन्हें काफी प्रसन्नता हुई है।

ग्रामीणों से अपेक्षा है कि वे सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लें एवं स्वयं को विकास की मुख्यधारा से जोड़ें। जो ग्रामीण योजनाओं का लाभ ले चुके हैं, उनसे भी अपेक्षा है कि वे अन्य लोगों को लाभ लेने के लिए प्रेरित करें। ग्रामीण पढ़ा-लिखा युवा वर्ग भी पात्र हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रेरित करे। सबका साथ, सबका विकास एवं सबका विश्वास ही हम सबका उद्देश्य होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार भी ग्रामीण क्षेत्रों के हित में सतत कार्य कर रही है। जनजातीय व्यक्तियों के हित में भी अनेक योजनाएं लागू की गई हैं। सबसे उल्लेखनीय कार्य यह है कि अब हितग्राहियों के बैंक खातों में योजनाओं की सीधी राशि पहुंच रही है। प्रतिभाशाली विद्यार्थियों की पढ़ाई में भी सरकार पूरी मदद कर रही है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लोगों के लिए काफी फायदेमंद साबित हुई है। पोषण एवं स्वास्थ्य सुधार की दिशा में भी सरकार उल्लेखनीय कार्य कर रही है। सभी से अपेक्षा है कि वे कोरोना के कहर से सीख लें एवं ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाकर वातावरण को शुद्ध ऑक्सीजन प्रदान करने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि बच्चे समाज का भविष्य है। इनको शिक्षित अवश्य करें। बेटियों को भी शिक्षा देना बहुत जरूरी है। प्रत्येक गांव को शिक्षित करना हमारा मुख्य उद्देश्य होना चाहिए। श्री पटेल ने इस दौरान विभिन्न योजनाओं से हितग्राहियों को लाभान्वित किया एवं उनको शुभकामनाएं भी दीं।

हितग्राही हुए लाभान्वित
———————-
राज्यपाल श्री पटेल ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत गठित स्व सहायता समूहों की महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़, स्वावलंबी बनाने एवं जैविक खेती को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ग्राम के तीन महिला समूहों राधिका स्व सहायता समूह, दुर्गा स्व सहायता समूह एवं देवी स्व सहायता समूह को दो-दो लाख रूपए राशि के स्वीकृति पत्र भेंट किए। इस दौरान उन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजनांतर्गत कु. तन्वी कवड़े (माता श्रीमती परिंदा संजू कवड़े) एवं कु. परी इवने (माता श्रीमती संगीता सुभाष इवने) को हितलाभ के स्वीकृति पत्र प्रदान किए। मनरेगा योजनांतर्गत पथरीली एवं बंजर भूमि सुधार के लिए जय किसान उपयोजना में ग्राम के चयनित सात हितग्राहियों में से श्री सुनील पूरन कवड़े को योजना का स्वीकृति पत्र प्रदान किया गया।

आदिवासी श्री अनिल उइके के निवास पर किया भोजन
————————————————–
राज्यपाल ने ग्राम के आदिवासी परिवार श्री अनिल उइके के निवास पर शुद्ध ग्रामीण परिवेश में दोपहर का भोजन किया। इस दौरान सांसद श्री डीडी उइके, विधायक आमला डॉ. योगेश पंडाग्रे, प्रधान जिला पंचायत श्री सूरजलाल जावलकर, उपप्रधान श्री नरेश फाटे, भारत भारती आवासीय विद्यालय के सचिव श्री मोहन नागर ने भी उनके साथ भोजन किया। राज्यपाल ने भोजन उपरांत परिवार के परिजनों को शाल भी भेंट किए।

स्कूल परिसर में रुद्राक्ष का पौधा रोपा
——————————–
राज्यपाल ने अपने कार्यक्रम की शुरुआत में ग्राम के स्कूल परिसर में रूद्राक्ष का पौधा रोपा। इस दौरान उन्होंने स्कूली छात्र-छात्राओं से भी उनकी पढ़ाई पर चर्चा की एवं टॉफियां दीं। स्कूल परिसर में ही राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्व सहायता समूहों द्वारा अपने उत्पादों पर लगाई गई प्रदर्शनी भी श्री पटेल ने देखीं। इस दौरान स्व सहायता समूहों द्वारा तैयार साबुन, अचार, पापड़, टमाटर कैचअप, स्कूल यूनिफार्म इत्यादि का अवलोकन किया एवं स्व सहायता समूहों द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की।

जल संरक्षण एवं सोलर ऊर्जा के कार्यों का भी अवलोकन किया
————————————————–
राज्यपाल ने अपने भ्रमण के दौरान इस गांव में जल संरक्षण के लिए किए गए कार्यों एवं सोलर ऊर्जा के माध्यम से समूचे गांव में ऊर्जा के किए जा रहे उपयोग का भी अवलोकन किया एवं ग्रामीण विकास के क्षेत्र में इस गांव में हुए कार्यों की सराहना की।

बुजुर्गों का सम्मान करने भोपाल से शाल साथ में लाए राज्यपाल
——————————
विद्यार्थियों को भी स्कूल बेग भेंट किए
——————————
प्रदेश के राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल ने ग्राम बाचा के भ्रमण के दौरान यहां के पांच बुजुर्गों का शाल प्रदान कर सम्मान किया। सम्मान करने के लिए राज्यपाल शाल स्वयं भोपाल से लेकर आए थे। ग्राम के जिन बुजुर्गों का सम्मान किया गया उनमें श्रीमती नरबदी बाई कवड़े, श्रीमती भागीरथी बाई धुर्वे, श्रीमती फूलिया बाई, श्री शिवप्रसाद कवड़े एवं श्री शेषलाल कवड़े शामिल थे। इस दौरान राज्यपाल द्वारा दस स्कूली छात्र-छात्राओं को भी स्कूल बेग प्रदान किए गए। उक्त स्कूल बेग भी राज्यपाल भोपाल से अपने साथ लेकर आए थे।

राज्यपाल ने शाहपुर में चार करोड़ उनतीस लाख की लागत से निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य भवन का अवलोकन किया
——————————————
ग्रामीण क्षेत्रों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में भवन होगा उपयोगी
—————————————–
प्रदेश के राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल ने मंगलवार को जिले के शाहपुर में चार करोड़ उनतीस लाख की लागत से पीआईयू द्वारा निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य भवन का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने यहां चिकित्सकीय सुविधाओं की जानकारी ली। साथ ही भर्ती मरीजों से भी उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। श्री पटेल ने यहां उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की भी जानकारी हासिल की। कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के. तिवारी ने उनको यहां उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी मुहैया करवाई। गौरतलब है कि शाहपुर क्षेत्र के निवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में नया भवन उपयोगी सिद्ध होगा। सांसद श्री डीडी उइके, विधायक आमला डॉ. योगेश पंडाग्रे, प्रधान जिला पंचायत श्री सूरजलाल जावलकर, उप प्रधान श्री नरेश फाटे सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।