*भगवान विष्णु की शिव भक्ति*
****************************

शिव की पूजा देवता और राक्षस, देव और असुर, श्रेष्ठ और अधम दोनों करते हैं – वह हर किसी के लिए महादेव हैं। विष्णु भी उनकी पूजा करते थे। विष्णु की शिव भक्ति को बताने वाली एक बहुत सुंदर कहानी है।

एक बार, विष्णु ने शिव से वादा किया कि वह शिव को 1008 कमल अर्पित करेंगे। वह कमल के फूलों की तलाश में गए और पूरी दुनिया में खोजने के बाद भी उन्हें सिर्फ 1007 कमल के फूल मिले।

एक कम था। उन्होंने आकर सब कुछ शिव के सामने रख दिया। शिव ने अपनी आँखें नहीं खोलीं, वह सिर्फ मुस्कुराए क्योंकि एक कमल कम था। फिर विष्णु ने कहा, ‘मुझे कमलनयन कहा जाता है,

जिसका अर्थ है कमल के फूलों की तरह आँखों वाला भगवान। मेरी आँखें किसी कमल की तरह सुंदर हैं। तो मैं अपनी एक आँख अर्पित करता हूँ।’ और उन्होंने तुरंत अपनी दाहिनी आँख निकालकर लिंग पर रख दी। इस तरह की भेंट से प्रसन्न होकर शिव ने विष्णु को प्रसिद्ध सुदर्शन चक्र दिया।

*‼️जय श्री हरि‼️*
*शिव शक्ति भक्ति सागर*