बैतूल,होशंगाबाद, हरदा जिलों के किसानो के लिए सुनहरा अवसर

सब्सिडी पर आम की बागवानी और वाक इन टनल विथ सीडलिंग ट्रे खेती के लिए आवेदन करें

आम की बागवानी और वाक इन टनल विथ सीडलिंग ट्रे अनुदान हेतु आवेदन किसानों की आमदनी दुगना करने के लिए बागवानी फसलों को बढ़ावा दिया जा रहा है इसके लिए कई योजनाओ का क्रियान्वयन किया जा रहा है | इसके तहत किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए फलदार वृक्षों, फूलों की खेती, सब्जी फसलें आदि पर सब्सिडी दी जाती है |

मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में फल क्षेत्र विस्तार तथा promotion of plug type seeding production at farmers field को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रोत्साहन के रूप में सब्सिडी उपलब्ध करा रही है |

इसके लिए किसानों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गये हैं | फल क्षेत्र विस्तार (राज्य) योजना राज्य में बागवानी के विस्तार के लिए सरकार ने आम की फसल के लिए प्रोत्साहन दे रही है | यह योजना आम की तोतापरी किस्म को बढ़ाबा देने के लिए चलाई जा रही है |

योजना के तहत किसानों को तोतापरी किस्म की उच्च घनत्व पर बागवानी पर अनुदान दिया जायेगा | यह किसान कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन यह योजना

मध्य प्रदेश के 3 जिलों के किसानों से आनलाइन आवेदन माँगा गया है | मध्य प्रदेश के होशंगाबाद, हरदा तथा बैतूल जिलों के किसान आवेदन कर सकते हैं |

इस योजना के लिए राज्य उधानकी विभाग ने लक्ष्य जारी किए है | इस बार आम की बागवानी के लिए 148 एकड़ के लिए 63.94 लाख रूपये का लक्ष्य रखा है |

जिले के अनुसार सामान्य, अनुसूचित तथा अनुसूचित जनजाति के लिए अलग – अलग लक्ष्य निर्धारित किये गए हैं |

होशंगाबाद :- जिले में आम की बागवानी के लिए लिए कुल 59 एकड़ का लक्ष्य रखा गया है |
इसके लिए 25.49 लाख रूपये की सब्सिडी दी जाएगी | योजना के तहत सामान्य वर्ग के लिए 39 एकड़, अनुसूचित जाति के लिए 10 एकड़, अनुसूचित जनजाति के लिए 10 एकड़ का लक्ष्य रखा है |

हरदा :- जिले में आम की बागवानी के लिए कुल 35 एकड़ का लक्ष्य रखा गया है | इसके लिए 15.12 लाख रूपये की सब्सिडी दिया जा रहा है | योजना के तहत सामान्य वर्ग के लिए 20 एकड़, अनुसूचित जाति के लिए 10 एकड़, अनुसूचित जनजाति के लिए 5 एकड़ का लक्ष्य रखा गया है |

बैतूल :- जिले में आम की खेती के लिए 54 एकड़ का लक्ष्य रखा गया है | इसके लिए 23.33 लाख रूपये का सब्सिडी दिया जा रहा है | योजना के तहत सामान्य वर्ग के लिए 35 एकड़, अनुसूचित जाति के लिए 4 एकड़, अनुसूचित जनजाति के लिए 15 एकड़ का लक्ष्य रखा गया है |

वाँक इन टनल विथ सीडलिंग ट्रे योजना राष्ट्रीय कृषि विकास योजना – रफ्तार के अंतर्गत वर्ष 2021–22 में promotion of plug type seeding production at farmers field के लिए मध्य प्रदेश के 10 जिलों से आवेदन मांगे गये हैं | राज्य के धार, झाबुआ, रतलाम, मंदसौर, शाजापुर, बड़वानी, देवास तथा दमोह जिला के किसान आनलाइन आवेदन मांगे गये हैं | किसानों को कितनी सब्सिडी दी जाएगी ? walk in tunnels कि स्थापना पर इकाई लगत का 50 प्रतिशत सब्सिडी हितग्राही को दी जाएगी |

walk in tunnels की स्थापना हेतु 500 वर्ग मीटर क्षेत्र के लिए इकाई लागत 3 लाख रुपये रखी गई है | इस पर 50 प्रतिशत यानि 1.50 लाख रूपये की सब्सिडी दी जाएगी |

इसके अलावा plug types seeding के उत्पादन हेतु 1000 सीडलिंग ट्रे (tray) के लिए इकाई लगत 50,000 रुपया रखा गया है | इस पर 25 प्रतिशत की सब्सिडी दिया जायेगा जो अधिकतम 12,500 रुपया होगा | इस प्रकार दोनों को मिलाकर कुल 1.625 लाख रूपये की सब्सिडी रखा गया है |

किसान कब आवेदन कर सकते हैं ? राज्य में दो योजनाओं के लिए आवेदन मांगे गये हैं | इन दोनों योजनाओं के लिए किसान आवेदन कर सकते हैं | आवेदन लक्ष्य पूरा होने तक लिए जाएंगे |

योजना के अनुसार जो लक्ष्य दिया गया है उससे 10 प्रतिशत अधिक लक्ष्य स्वीकार किया जायेगा | आवेदन के लिए किसान के पास विभिन्न प्रकार के दस्तावेज होना चाहिए:- आधार कार्ड, फोटो खसरा नम्बर बी1, बैंक बुक के प्रथम पृष्ट के छाया प्रति, जाति प्रमाण पत्र (सामान्य वर्ग को छोड़कर) सब्सिडी के लिए आवेदन कहाँ करें ? दी गई सभी सामग्री के लिए आवेदन उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश के द्वारा आमंत्रित किये गए हैं अत; किसान भाई यदि योजनाओं के विषय में अधिक जानकारी चाहते हैं तो उद्यानिकी एवं विभाग मध्यप्रदेश पर देख सकते हैं | मध्यप्रदेश में किसानों को आवेदन करने के लिए ऑनलाइन पंजीयन उद्यानिकी विभाग मध्यप्रदेश फार्मर्स सब्सिडी ट्रैकिंग सिस्टम पर जाकर कृषक पंजीयन कर सकते हैं |