प्रकृति का सम्मान करें – सीएमओ देशमुख

नगर परिषद पार्क र्घोड़ाडोंगरी में विश्व पर्यावरण दिवस पर प्रशासक मोनिका विश्वकर्मा, नगर परिषद सीएमओ जी आर देशमुख ओर कर्मचारियों ने पौधरोपण किया।

इस अवसर पर नगर परिषद की प्रशासक, तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा ने कहा पर्यावरण को बचाना सिर्फ एक दिन का काम नहीं है। यह हमारे दैंनदिन जीवन का अभिन्न अंग है। पर्यावरण की रक्षा यानी पृथ्वी को बचाने और उसे समृद्ध करना अपने-अपने जीवन को खुशहाल तथा समृद्ध बनाना है। समाज केवल मनुष्यों का समूह नहीं होता। पशु, पक्षी, नदियां, तालाब, समुद्र, पहाड़, वायु, प्रकाश, बाग, बगीचा, जंगल, सब मिलकर किसी समाज का निर्माण करते हैं। किसी जीवंत समाज की रचना इन सबके सहअस्तित्व से ही संभव हैं। हमारे जीवन में पर्यावरण इसीलिये बहुत मायने रखता है।

सीएमओ जी आर देशमुख ने कहा पर्यावरण दिवस मनाना केवल रस्म अदायगी नहीं है, यह संकल्प लेने और उसे पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ने का दिन है। संकल्प धरा को बचाने, संवारने का, प्रकृति और जीव जन्तुओं की रक्षा का और मानव को प्रकृति से जोड़ने का। आज हम जिस दौर से गुजर रहे हैं वहां पर्यावरण की रक्षा का सवाल अहम हो गया है। जलवायु परिवर्तन, ओजोन परत के क्षरण ने मनुष्य के अस्तित्व पर एक बड़ा खतरा पैदा कर दिया है। इससे बचने का उपाय कल पर नहीं छोड़ा जा सकता। हमें आज और अभी पूरी सतर्कता व संजीदगी के साथ इन खतरों का मुकावला करने के लिये जुट जाना होगा। यही मानवीयता है और मानव सेवा है।

हमारी भारतीय संस्कृति में पौधों का रोपण शुभ कार्य माना गया है। भारतीय उपासना पद्धति में वृक्ष पूज्यनीय है क्योंकि उन पर देवताओं का वास माना गया है। विनाश से बचने के लिये समाज को प्रकृति-आराधना को परंपरा को पुनर्जीवित करते हुये वृक्षों के साथ जीना सीखना होगा।

कोरोना के प्रकोप से हालांकि हम उबरते जा रहे हैं लेकिन इससे समाज को मुक्त रखना तभी संभव होगा जब हम अपने पर्यावरण को बचाये रखेंगे। पेड़ लगाना आज की नहीं भविष्य की जरूरतों को पूरा करता है। पेड़ लगाकर हम अपना अपनी पृथ्वी का भविष्य हरा-भरा करते हैं।

इस अवसर पर नगर परिषद के संजय साहू, ओमप्रकाश पवार, राजू तुमराम सहित अन्य लोग मौजूद थे।