महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और उनके परिवार की 4 करोड़ 20 लाख रुपये की अचल संपत्ति कुर्क

 

प्रवर्तन निदेशालय ने भ्रष्टाचार के एक मामले में धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और उनके परिवार की 4 करोड़ 20 लाख रुपये की अचल संपत्ति कुर्क की है।

 

देशमुख को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की जांच के आधार पर ईडी का सामना करना पड़ रहा है। देशमुख  पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर तीन बार उपस्थित नहीं हुए। उनके बेटे हृषिकेश और पत्नी को भी जांच एजेंसी ने तलब किया था लेकिन उन्होंने भी गवाही देने से इनकार कर दिया।

इस साल की शुरुआत में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह की शिकायत पर सीबीआई और ईडी ने देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में मामला दर्ज किया था। सिंह ने अपनी शिकायत में देशमुख पर कम से कम 100 करोड़ रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगाया था।