नवीन वागद्रे

घंटों ऑफिस की कुर्सी पर बैठना हो, खड़े होकर घर का काम करना हो या दौड़-भाग का कोई काम हो, कमर दर्द या पीठ दर्द की शिकायत हो सकती है। आज की बदलती जीवन शैली के कारण पीठ या कमर दर्द की समस्या आम बनती जा रही है। किसी को यह दर्द तेज, तो किसी को हल्का हो सकता है। एक वक्त था, जब यह समस्या उम्र बढ़ने पर होती थी, लेकिन आज यह परेशानी 10 में से 8 लोगों में पाई जा सकती है (1)। वहीं, कमर दर्द का उपाय अगर वक्त रहते न किया जाए, तो आगे चलकर यह दर्द चिंता का कारण बन सकता है। ऐसे में हल्के-फुल्के दर्द के लिए कमर दर्द के घरेलू इलाज किये जा सकते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम इस लेख में कमर दर्द का कारण और लक्षण के साथ-साथ कमर के दर्द का इलाज बताने जा रहे हैं। ध्यान रहे कि समस्या अगर गंभीर है, तो डॉक्टरी उपचार जरूर करवाएं।

तुलसी पीठ के निचले हिस्से के दर्द से दिलाये आराम (Tulsi helps to ease from Lower back pain)
एक कप पानी में 8-10 तुलसी की पत्तियां डालकर तबतक उबालें जबतक कि यह उबलकर आधा न हो जाये और इसके ठंडा होने के बाद इसमें एक चुटकी नमक डालकर रोजाना पिएं। इससे कमर दर्द में लंबे समय के लिए आराम मिलने लगेगा।

बर्फ की सिकाई पीठ के निचले हिस्से के दर्द से दिलाये राहत (Ice compress help to get relief from Lower back pain)
बर्फ को कूटकर एक कपड़े में बांध ले और इसे दर्द वाली जगह पर 10 से 15 मिनट के लिए रख दें। ऐसा इसे हर दो घंटे में दोहराएँ। आपको जल्द ही दर्द से छुटकारा मिल जाएगा

सेंधा नमक पीठ के निचले हिस्से के दर्द से दिलाये राहत (Rock salt helps to relieve from Lower back pain)
सेंधा नमक में पानी डालकर गाड़ा पेस्ट तैयार करें। अब इसे एक कपड़े में डालकर निचोड़ दें जिससे बचा हुआ पानी भी बाहर निकल जाये। अब इस पेस्ट को अपनी कमर में लगा लें। सेंधा नमक दर्द को कम करता है और इन्फ्लामेशन में राहत प्रदान करता है।

दूध पीठ के निचले हिस्से के दर्द से दिलाये राहत (Milk help to ease Lower back pain)
दूध कैल्शियम का स्रोत है जो हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाये रखने में मदद करता है। शरीर में कैल्शियम की कमी के कारण भी कमर दर्द की समस्या होती है। इसलिए दूध का नियमित रूप से सेवन करें और यदि मीठे की जरूरत महसूस हो तो शहद मिलाकर पिएं। नुस्खों को अपनाने के साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि नरम गद्दीदार आसान छोड़कर सख्त कुर्सी या तख्त पर सीधे बैठने की आदत अपनाएं। सोने के लिए तख्त का इस्तेमाल करें। तभी ज्यादा बेहतर असर महसूस होगा।

सरसों का तेल और लहसुन पीठ के निचले हिस्से के दर्द से दिलाये राहत (Mustard oil and Garlic helps to cure Lower back pain)
सरसों का तेल और लहसुन यह दोनों ही चीजें आपकी रसोई में पहले ही उपलब्ध होंगी। आपको अब इनसे एक लेप तैयार करना है। इसके लिए आप आधा कटोरी सरसों के तेल 40 ग्राम लहसुन की कलियाँ छीलकर डाल लें। अब इसमें एक से दो चम्मच अजवायन के दाने भी मिला लें। अब इस मिश्रण को तवे पर हल्की आंच पर गर्म करें। ज्यादा तेज आंच पर तेल जल्दी जल सकता है इसलिए आंच धीमी ही रखें और तब तक इसको गर्म करें जब तक लहसुन और अजवायन काले न पड़ जाएँ। अब इसे ठण्डा होने तक इन्तजार करें। अब आप कमर में दर्द वाली जगह पर इस लेप की मालिश करें। इससे कमर में दर्द में बहुत राहत मिलती है।

इसके अलावा आप Spinal bath, back massage भी कर सकते है

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए (When to see a Doctor)
सामान्य रूप से कमर दर्द का घरेलू उपचार ही किया जाता है लेकिन इसके कुछ ऐसे लक्षण होते हैं जिनके कारण आपको डॉक्टर से संपर्क करने की आवश्यकता होती है। इसके निम्न लक्षण हैं-

-दर्द 6 सप्ताह से अधिक समय तक रहता है।
-ऐसा दर्द जो घरेलू उपचार किये जाने पर ठीक नहीं होता है।
-कमर का ऐसा दर्द जो रात में होता हो।
-कमर दर्द के साथ पेट का दर्द हो।
-बाहों या पैरों में कमजोरी, झुनझुनी, या सुन्न होना।
-जब रोजाना के दिनचर्या के कार्य में बाधा उत्पन्न होने लगे।