नामांतरण-बंटवारा के प्रकरण लंबित न रहें
———————————–
सस्ते राशन की कालाबाजारी न हो
—————————-
अवैध खनिज की रोकथाम पर राजस्व अधिकारियों की सख्त नजर हो-कलेक्टर
————————————————-
कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में फौती नामांतरण, बंटवारा जैसे प्रकरणों के निराकरण पर राजस्व अधिकारियों को विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि किसी भी स्थान पर इस तरह के प्रकरण अनावश्यक लंबित न रहें, इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाए। बुधवार को आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर ने कहा कि उनके ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण के दौरान नामांतरण एवं बंटवारा के प्रकरण लंबित होने की जानकारी मिल रही है। यह स्थिति ठीक नहीं है। राजस्व विभाग के अमले को इस बात के लिए सजग रहना चाहिए कि उनके क्षेत्र में कोई प्रकरण बेवजह लंबित न रहे। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री अभिलाष मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री श्यामेन्द्र जायसवाल सहित समस्त अनुविभागीय अधिकारी एवं राजस्व अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि मैदानी राजस्व अधिकारी इस बात पर भी निगरानी रखें कि उचित मूल्य की दुकानों से सस्ती दरों पर मिलने वाले राशन की कालाबाजारी न हो। यदि कोई अपात्र व्यक्ति सस्ता राशन प्राप्त कर रहा है, तो उसके विरूद्ध भी कार्रवाई की जाए। उन्होंने अवैध खनिज की रोकथाम के लिए भी राजस्व अधिकारियों को सचेत किया और कहा कि खनिज के अवैध खनन/परिवहन के मामलों में बनाए जाने वाले प्रकरण समुचित अन्वेषण कर बनाए जाएं, ताकि दोषियों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई हो सके।

बैठक में सामुदायिक वनाधिकार के दावों में आवश्यक औपचारिकताएं शीघ्रता से पूर्ण कर वनाधिकार पत्र जारी करने की कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। इसी तरह रबी सीजन में खाद वितरण की व्यवस्था पर भी निगरानी बनाए रखने के लिए राजस्व अधिकारियों को पाबंद किया गया। कलेक्टर ने कहा कि खाद वितरण के कार्य में विभागीय अधिकारियों एवं राजस्व अधिकारियों के बीच बेहतर तालमेल रहे, ताकि कहीं भी खाद वितरण में अव्यवस्था न हो।

बैठक में संतोषजनक कार्य नहीं करने वाले 20-50 के दायरे में आ रहे कर्मचारियों की जानकारी प्रस्तुत करने की भी समीक्षा की गई। कलेक्टर ने कहा कि राजस्व अधिकारी इस बात को गंभीरता से लें एवं जिन कर्मचारियों के सेवा अभिलेख संतोषजनक नहीं है अथवा जो ठीक से कार्य नहीं कर रहे हैं, उनके प्रकरण तैयार कर प्रस्तुत किए जाएं। इस दौरान सीमांकन, बंटवारा, नामांतरण, धारणाधिकार, सीएम हेल्पलाइन एवं अन्य राजस्व संबंधी कार्यों की समीक्षा की गई।

कोविड टीकाकरण के द्वितीय डोज के लिए रणनीति तैयार की जाए
—————————————————-
बैठक में कलेक्टर ने कोविड टीकाकरण के द्वितीय डोज लगवाने के लिए अभियान चलाने की रणनीति तैयार करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में द्वितीय डोज का बैकलॉग ज्यादा है, वहां विशेष कार्य योजना बनाकर टीकाकरण का कार्य किया जाए।