जली हुई लाश के आरोपियों का पुलिस ने किया खुलासा

शाहपुर। थाना बीजादेही में सूचना प्राप्त हुई थी की घोड़ादेव बाबा की पहाड़ी के सामने जंगल में नाले के अंदर एक अज्ञात पुरुष की लाश जली हुई हालत में पड़ी है ।

सूचना पर मर्ग कायम कर जांच की गई। जांच के दौरान एफएसएल अधिकारी एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया।

अज्ञात पुरुष के शव का पंचनामा कार्यवाही कर पोस्टमार्टम कराया गया। अज्ञात मृतक की पहचान शैलेश पिता बाबूलाल घोरसे 32 वर्ष निवासी खपरिया के रूप में होने पर अन्य साथियों से पूछताछ की गई।

जांच में पाया गया कि संदेही अनिल पाटिल एवं सुनील पाटिल द्वारा शैलेश की हत्या कर पहचान छुपाने के उद्देश्य से शव को आंग से नाले में जलाया गया है ।

जांच पर धारा 302, 201, 34 भा द वि का कायम कर अनुसंधान किया गया। जांच में पाया गया कि मृतक शैलेश का आना जाना ग्राम टिमरनी में आरोपियों के घर पर था जो आरोपी गण नहीं चाहते थे कि शैलेश घर आए जाए तथा मां से बातचीत करें ।

दिनांक 30 जून को आरोपी गण अनिल पिता प्रभु दयाल उम्र 30 वर्ष वा सुनील पिता प्रभु दयाल उम्र 28 वर्ष दोनों निवासी ग्राम टिमरनी थाना बीजदेही शाम को सिवनी मालवा से वेयर हाउस मजदूरी कर वापस आने पर शैलेश के घर मिलने पर आपस में कहासुनी हो कर बांस डंडा एवं कुल्हाड़ी से मारपीट की गई।

मृत्यु होने पर लास् उठाकर घर के पीछे जंगल के नाले में लकड़ी और पत्तों से जलाना कबूल किया। आरोपी गणों की निशानदेही पर मारपीट में प्रयुक्त कुल्हाड़ी एवं बांस डंडा जप्त किया गया ।

संपूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद के नेतृत्व एवं एसडीओपी शाहपुर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी बीजादेही बीएल उइके, बी एल बोरासी ,राजेश एवं मनीष द्वारा की गई।