हाईकोर्ट ने गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने का सुझाव दिया. हाईकोर्ट ने कहा, ‘जब गाय का कल्याण होगा, तभी देश का कल्याण होगा. सरकार को संसद में बिल लाकर गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करना होगा और उनके खिलाफ कड़ा कानून बनाना होगा जो गाय को नुकसान पहुंचाने की बात करते हैं.’गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की हाईकोर्ट की टिप्पणी का गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी और हम शुरू से ही गाय को आस्था का केंद्र मानते हैं, हम इसके पक्षधर हैं। गाय हमारी माता है, गाय को मां का दर्जा दिया है।

कांग्रेस ने गृहमंत्री को संयम बरतने की सलाह दी है। पूर्व मंत्री और कांग्रेस के सीनियर विधायक डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट की टिप्पणी पर कुछ नहीं कहूंगा, पर सरकार जल्दबाजी में समर्थन का बयान कैसे दे सकती है। जब तक सभी समुदाय, धर्म विशेष के लोगों से चर्चा नहीं की जाती ऐसे बयान नहीं देने चाहिए। देश की सरकार यदि गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करना चाहती है, प्रदेश की सरकार इसको समर्थन देना चाहती है तो विधानसभा सत्र बुलाया जाए।आपको बता दें इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है गौ मांस खाना मौलिक अधिकार नहीं हो सकता। गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करना चाहिए।