गांव-गांव पहुंचेंगे अधिकारी
——————————-
समस्याओं का करेंगे निराकरण
———————————
क्लस्टर स्तर पर कलेक्टर चौपाल आयोजित कर करेंगे समीक्षा
———————————
ग्रामीण समस्याओं के निराकरण, पात्र हितग्राहियों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने एवं मैदानी क्षेत्रों में चल रहे विकास कार्यों की भौतिक स्थिति से वाकिफ होने के लिए जिले के अधिकारी अब हर सप्ताह ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचेंगे। चिन्हित क्लस्टर की लगभग दस पंचायतों में जिला स्तर के अधिकारी नियत दिवस पर पूर्वान्ह में पहुंचकर वहां ग्रामीण क्षेत्र का भ्रमण करेंगे एवं समस्याओं के आवेदनों का संकलन करेंगे, यथासंभव ग्राम स्तर पर इनके निराकरण का भी प्रयास करेंगे। दोपहर पश्चात् क्लस्टर मुख्यालय पर कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस पहुंचकर ग्राम चौपाल लेंगे, जो शिकायतें/आवेदन अधिकारियों के भ्रमण के दौरान निराकृत नहीं हो सके हैं, उनके निराकरण की उचित कार्रवाई करेंगे। इस दौरान कलेक्टर इस क्षेत्र में संचालित विकास कार्यों अथवा कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति का भी स्पॉट पर निरीक्षण करेंगे।
पूर्वान्ह में ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान अधिकारियों की जवाबदारी होगी कि वे वहां स्कूलों व आंगनबाडिय़ों के संचालन की स्थिति, टेक-होम राशन व्यवस्था, स्वास्थ्य सेवाओं, राशन की उपलब्धता, सामाजिक सहायता पेंशन का वितरण, विद्युत संबंधी समस्याओं, नि:शक्त कल्याण योजनाओं का क्रियान्वयन, पात्रता पर्चियों का वितरण, राजस्व संबंधी नामांतरण बंटवारे इत्यादि के निराकरण की स्थिति की पड़ताल करें। यदि कोई पात्र हितग्राही किसी योजना के लाभ से वंचित है तो उसको योजना का लाभ दिलाने की पहल करें। यदि कोई स्थानीय समस्या है तो संबंधित विभाग के वहां पहले से मौजूद मैदानी अमले की मदद से निराकरण करें। यदि ग्रामीण क्षेत्र में विशेष जरूरत/समस्या है तो उसको भी रेखांकित करें। यह अधिकारी वहां संचालित निर्माण कार्यों की स्थिति का भी निरीक्षण करेंगे। संबंधित ग्राम के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी अपनी रिपोर्ट तैयार कर दोपहर तक क्षेत्र के सीईओ जनपद पंचायत को सौंपेंगे।

दोपहर पश्चात् क्लस्टर मुख्यालय पर कलेक्टर एवं सीईओ जिला पंचायत ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचे इन अधिकारियों की बैठक करेंगे। साथ ही ग्रामीणों की जन सुनवाई एवं चौपाल आयोजित करेंगे। विभागीय अधिकारियों के ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण के दौरान जो समस्याएं निराकृत नहीं हो सकी हैं, उनका यथासंभव निराकरण करवाएंगे। इस दौरान वे स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों से भी चर्चा कर उनकी समस्याएं जानेंगे व यथोचित समाधान करेंगे। जो शिकायतें क्लस्टर स्तर पर निराकृत नहीं हो सकेंगी, उनको समयावधि पत्रों की समीक्षा में दर्ज किया जाएगा एवं समय-समय पर रिव्यू कर निराकृत करवाया जाएगा।

अधिकारियों का पहला भ्रमण सांवलमेंढा क्लस्टर में प्रस्तावित
————————————————————
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिलाष मिश्रा ने बताया कि उपरोक्त व्यवस्था के तहत अधिकारियों का पहला भ्रमण 12 अगस्त को भैंसदेही विकासखंड के सांवलमेंढा क्लस्टर क्षेत्र में प्रस्तावित है। सांवलमेंढा क्लस्टर में नोडल अधिकारियों के भ्रमण के लिए दस ग्राम पंचायतों का चयन किया गया है।