सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने कोरोना संक्रमण के प्रभाव को कम करने के लिए नए ऋणों की घोषणा की


भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने कोविड महामारी से उत्‍पन्‍न आर्थिक संकट से निपटने के लिए विभिन्न सहायता उपायों और नए ऋण उत्पादों की घोषणा की है। इसमें कोविड उपचार के लिए व्यक्तियों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए 5 लाख रुपये तक के असुरक्षित ऋण शामिल होंगे।

भारतीय बैंक संघ और भारतीय स्टेट बैंक ने कल मुंबई में तीन नए बैंक ऋणों की घोषणा की। यह घोषणा भारतीय रिजर्व बैंक और भारत सरकार द्वारा घोषित विभिन्‍न उपायों पर आधारित हैं। ये उपाय वैक्‍सीन विनिर्माताओं, अस्‍पतालों तथा डिस्‍पेंसरियों, पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं, ऑक्‍सीजन तथा वेंटीलेटर निर्माताओं तथा आपूर्तिकर्ताओं, वैक्‍सीन आयातकों, कोविड उपचार दवाओं के संभार तंत्र तथा रोगियों को उपचार के लिए और ऋण सहायता उपलब्‍ध कराएंगे।

कोविड उपचार के लिए ऋण देने के अलावा दो अन्य ऋण, कारोबार के लिए भी दिए जाएंगे, जिसमें स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल ढांचा स्‍थापित करने के लिए दो करोड़ रुपए तक का ऋण दिया  जाएगा।