उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव ने बताया कि मध्यप्रदेश में इस वर्ष पूर्णतः ऑनलाइन प्रवेश होंगे। विद्यार्थियों को प्राप्तांक और श्रेणी के आधार पर प्रवेश दिया जायेगा। विद्यार्थी घर से भी प्रवेश प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं।

डॉ यादव ने बताया कि छात्र अपने डॉक्यूमेंट स्कैन करके अपलोड कर सकते हैं। पहले चरण में छात्राओं को पंजीयन शुल्क नहीं लगेगा। वहीं छात्रों के लिए मात्र 100/- रुपये पंजीयन शुल्क होगा।

प्रदेश के सभी शासकीय महाविद्यालयों में वेरीफिकेशन के लिए हैल्प सेंटर तैयार किये जाएंगे। कॉलेज प्राध्यापक विद्यार्थियों द्वारा भरी गई जानकारी अपलोड किये गये डॉक्यूमेंट से चेक करेंगे और सत्यापन करेंगे। विद्यार्थी अपने कोर सबजेक्ट ऑनलाइन चुन सकेंगे।

डॉ यादव ने बताया कि नामांकन के लिए अलग से आवेदन नहीं करना होगा। मुख्यमंत्री मेघावी विद्यार्थी योजना, मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना (शिक्षा प्रोत्साहन योजना एवं कोविड-19 बाल कल्याण योजना में भी विद्यार्थियों को राहत मिलेगी। छः माह के सर्टिफिकेट कोर्स के लिए भी अवसर मिलेगा।