*अंतर्राज्यीय सागौन तस्कर धराए*

*वन विभाग ने कार्यवाही कर सात आरोपियोंको किया गिरफ्तार*

*बड़ी मात्रा मे सागौन बरामद*

*राजस्थान से जुड़े हैं आरोपियों के तार*

*भोले-भाले ग्रामीणों को सागौन के बदले बेचते थे प्लास्टिक के सामान*

*जितेन्द्र निगम – चिचोली*

*पश्चिम सामान्य वन मंडल के सावलीगढ़ वन परिक्षेत्र में वन विभाग के अलग-अलग दलों ने कार्यवाही कर सागौन की तस्करी करने वाले सात आरोपियों को चार मोटरसाइकिलों सहित गिरफ्तार किया है . इन आरोपियों का संबंध अंतर्राज्यीय वन माफिया से बताया जा रहा है.*

*जानकारी के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्रों में प्लास्टिक कुर्सी, टब, कोठी एवं अन्य सामग्री को मोटरसाइकिल पर घूम घूम कर बेचने वालों के बारे में वन विभाग को काफी समय से यह सूचना मिल रही थी कि इस सामग्री के बदले ग्रामीणों से सागौन के गुल्ले लिए जा रहे हैं . इसी सूचना पर वन विभाग के आला अधिकारियो के निर्देशन मे अलग-अलग दल बनाकर शनिवार से विभिन्न मार्गों पर घेराबंदी कर आरोपियों को पकड़ने की कार्यवाही की गई है. सावलीगढ़ रेंज ऑफिसर राजेश रंधावा ने बताया कि इस धरपकड़ में चिरापाटला के पास से दो, कामठामाल से एक और पाठाखेड़ा से एक मोटरसाइकिल के द्वारा सागौन की तस्करी करते हुए सात आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. यह सभी बांसवाड़ा राजस्थान के निवासी हैं . श्री रंधावा ने बताया कि ग्रामीणों को बहला-फुसलाकर यह लोग प्लास्टिक की कुर्सियां , टब , कंटेनर एवं अन्य सामग्री सागौन के छोटे-छोटे गुल्लों के बदले में देते थे. इसकी सूचना पहले से ही मिल रही थी. मुखबिर की सूचना पर सुनियोजित तरीके से इन आरोपियों को धर दबोचा गया है.*

*खिलौने बनाने के लिए होती है सागवान की तस्करी*

*गिरफ्तार आरोपियों में बांसवाड़ा राजस्थान के सुमित ने बताया कि आदिवासियों से सागौन पर मिट्टी एवं गोबर का लेप लगाकर सागौन के गुल्ले इकट्ठे किया करते थे और फिर उन्हें हरदा के रास्ते राजस्थान भेजा जाता था . आरोपियों ने बताया कि सागवान की लकड़ी से पारंपरिक खिलौने बनाने का काम होता है . अंतर्राज्यीय सागौन तस्करों के इस गिरोह का मुख्यालय दामजीपुरा के आसपास बताया जा रहा है.*

*रेंज ऑफिसर के मुताबिक बांसवाड़ा राजस्थान निवासी महिपाल, राहुल, अजय ,पिंटू, सुमित, गेसिया और राहुलनिखिल सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर वन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण कायम किया गया है. चारों जप्त मोटरसाइकिलों को राजसात करने की कार्यवाही की जा रही है.*